बुधवार, मई 29, 2013

आईपीएल की खुल गई पोल

















हल्ला बोल हल्ला बोल
आईपीएल की खुल गई पोल
अन्दर खाने कित्त्ते हैं झोल
हो रही सबकी सिट्टी गोल

ये मैच नहीं ये फिक्सिंग है
लगता मुझको तो मिक्सिंग है
बीमारी है अड़ियल अमीरों की
ये नसल है घटिया ज़मीरों की

नैतिकता ताख पे रक्खी हैं
ये खिलाड़ी हैं या झक्की हैं
जो चंद करोड़ पर नक्की हैं
लगते गोबर की मक्खी हैं

नारी गरिमा पर धुल पड़ी
आधी नंगी हो फूल खड़ी
चीयर गर्ल बन इतराती है
मैदान में कुल्हे मटकाती है

बस संत इनमें श्रीसंत हैं जी
आईयाश बड़े महंत हैं जी
फिक्सिंग में पकड़े जाते हैं जी
रंगरलियाँ खूब मनाते हैं जी

फ़िल्मी बकरे भी जमकर के
आईपिएल में मटर भुनाते हैं
विन्दु सरीखे पूत यहाँ पर
पिता की लाज गंवाते है

मैच के बाद की पार्टी में
आईयाशियों के दौर चलते हैं
दारु, लड़की, चिकन, कबाब
हर एक के साथ में सजते हैं

जीजा, साले, और सुसर यहाँ
एक दूजे की विकेट उड़ाते हैं
सट्टेबाजी के बाउंसर पर
बेटिंग अपनी दिखलाते हैं

मोहब्बत, जंग और राजनीति में
कहते हैं सबकुछ जायज़ है
आईपीएल की नई दुनिया में
सुना है खेल में सबकुछ जायज़ है

मैं पूछता हूँ अब आपसे यह
क्या जायज़ है ? क्या नाजायज़ है ?
जनता करेगी यह फैसला अब
कौन लायक है ? कौन नालायक है ?

बल्ला बोल बल्ला बोल
हल्ला बोल हल्ला बोल
आईपीएल की खुल गई पोल
आईपीएल की खुल गई पोल 

24 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत सुंदर
    आईपीएल की तो वाकई पोल खुल गई

    जवाब देंहटाएं
  2. सुंदर अवलोकन ....जबर्दस्त

    जवाब देंहटाएं
  3. यह तमाशा तो चलता ही रहेगा ?

    जवाब देंहटाएं
  4. जितनी रचना रचनी है रच लो
    गैंडे के खाल में लिपटे हैं सब
    सार्थक सामयिक रचना
    हार्दिक शुभकामनायें

    जवाब देंहटाएं
  5. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
    आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी इस प्रविष्टि की चर्चा आज बृहस्पतिवार(30-05-2013) हिंसा किसी समस्या का समाधान नहीं ( चर्चा - 1260 ) में "मयंक का कोना" पर भी है!
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    जवाब देंहटाएं
  6. क्या बात है तुषार जी ..क्या पोल खोली है आपने ..बहुत खूब!

    जवाब देंहटाएं
  7. बिल्कुल सही तस्वीर खींची है.

    रामराम.

    जवाब देंहटाएं
  8. धीरे धीरे सभी बेनकाब होते जा रहे है ,,,

    Recent post: ओ प्यारी लली,

    जवाब देंहटाएं
  9. ज़बरदस्त हल्ला बोला है

    जवाब देंहटाएं
  10. फिक्सिंग करने वाले लोग अप्रत्‍यक्ष रूप से आतंकवादी ही हैं, इनका बेनकाब होना बहुत जरूरी है आभार
    हिन्‍दी तकनीकी क्षेत्र की रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारियॉ प्राप्‍त करने के लिये एक बार अवश्‍य पधारें
    टिप्‍पणी के रूप में मार्गदर्शन प्रदान करने के साथ साथ पर अनुसरण कर अनुग्रहित करें
    MY BIG GUIDE
    नई पोस्‍ट
    अपने ब्‍लाग के लिये सर्च इंजन बनाइये
    अपनी इन्‍टरनेट स्‍पीड को कीजिये 100 गुना गूगल फाइबर से
    मोबाइल नम्‍बर की पूरी जानकारी केवल 1 सेकेण्‍ड में
    ऑनलाइन हिन्‍दी टाइप सीखें
    इन्‍टरनेट से कमाई कैसे करें

    जवाब देंहटाएं
  11. पोल तो खुलनी ही थी.....मेरी नई पोस्ट "ज़रा अज़मां कर देखिए "

    जवाब देंहटाएं
  12. अभी न जाने कितनी ही और खुलनी बाकी हैं.

    जवाब देंहटाएं
  13. संत क्या श्रीसंत क्या
    सब है कनक कामिनी के
    भक्त ...सटीक रचना !

    जवाब देंहटाएं

  14. भरता जाए है यूं पाप का घट धीरे धीरे |
    खुलते जाए है घुटालों के भी पट धीरे धीरे |
    अब न खेल का इमान धरम कोई रहा-
    खुलते जाये हैं आईपीएल के कपट धीरे धीरे |

    जवाब देंहटाएं
  15. बहुत बढ़िया बेंड बजाया

    जवाब देंहटाएं
  16. अभी तो जाने कितना खेल बाकी है ...
    बहुत बढ़िया प्रस्तुति

    जवाब देंहटाएं
  17. सट्टेबाजी और फिक्सिंग ने क्रिकेट को कितनी हानि पहुंचायी है ....
    सुन्दर व्यंग्य, बेहतरीन

    जवाब देंहटाएं
  18. बहुत सुन्दर और सटीक अभिव्यक्ति...

    जवाब देंहटाएं

कृपया किसी प्रकार का विज्ञापन टिप्पणी मे न दें। किसी प्रकार की आक्रामक, भड़काऊ, अशिष्ट और अपमानजनक भाषा निषिद्ध है | ऐसी टिप्पणीयां और टिप्पणीयां करने वाले लोगों को डिलीट और ब्लाक कर दिया जायेगा | कृपया अपनी गरिमा स्वयं बनाये रखें | कमेन्ट मोडरेशन सक्षम है। अतः आपकी टिप्पणी यहाँ दिखने मे थोड़ा समय लग सकता है ।

Please do not advertise in comment box. Offensive, provocative, impolite, uncivil, rude, vulgar, barbarous, unmannered and abusive language is prohibited. Such comments and people posting such comments will be deleted and blocked. Kindly maintain your dignity yourself. Comment Moderation is Active. So it may take some time for your comment to appear here.