उर्दू शेर लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
उर्दू शेर लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

गुरुवार, दिसंबर 25, 2014

शायरी

इश्क़ परखने का हुनर, हम बख़ूबी जानते हैं
कौन है आशिक़-ए-बुताँ, हम बख़ूबी जानते हैं
आशिक़-ए-बे-दिल के, बैत-ए-आशिक़ाना में
कौन है फ़र्द-ए-बशर, हम बख़ूबी जानते हैं

*आशिक़-ए-बुताँ - beauty lover
*आशिक़-ए-बे-दिल - heartless lover
*बैत-ए-आशिक़ाना - temple of love
*फ़र्द-ए-बशर - unique human being

--- तुषार राज रस्तोगी ---